सिर्फ और सिर्फ आपके लिए- dost shayari


आपकी दोस्ती हमारी सुरूर का,
साज है आप जैसे दोस्त पे हमें,,
नाज है चाहे कुछ भी हो जाए दोस्ती
वैसे ही रहेगी जैसे आज है…!!

Advertisement

कुछ रिश्ते खून के होते हैं,
कुछ रिश्ते पैसे के होते हैं,
जो लोग बिना रिश्ते के ही रिश्ते निभाते हैं,
शायद वही “दोस्त” कहलाते हैं!!

दोस्ती तो जिंदगी का एक खूबसूरत लम्हा है,
जिसका अंदाज सब रिश्ते से अलबेला है,
जिसे मिल जाए वह तन्हाई मे भी खुशी है,
और जिसे ना मिले तो वो भीड मे भी अकेला है!!

dost shayari


ghazals of ghalib

Follow us on Facebook

Advertisement